June 17, 2024

निखत जरीन: एक उच्च शिखर की मुक्केबाज की कहानी | Nikhat Zareen Biography

दो बार की विश्व चैंपियन निखत ज़रीन ने महिलाओं के 50 किग्रा में वियतनाम की थी टैम गुयेन पर 5-0 से शानदार जीत दर्ज करके अपना दबदबा कायम किया, जबकि प्रीति पवार (54 किग्रा) एशियाई खेलों (Asian Games) के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गईं।

निखत जरीन(Nikhat Zareen) एक प्रमुख भारतीय मुक्केबाज हैं जिन्होंने अपने करियर में कई महत्वपूर्ण प्रतिस्पर्धा में सफलता प्राप्त की है। वह 14 जून 1996 को भारत के तेलंगाना राज्य के निजामाबाद शहर में पैदा हुई थी।

निखत ने मुक्केबाजी की दुनिया में अपने पिता मोहम्मद जमील अहमद के मार्गदर्शन में कदम रखा। उन्होंने वर्ष 2009 में विशाखापट्नम के स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया में ड्रोनाचार्य पुरस्कार प्राप्तकर्ता आई.वी. राव के नेतृत्व में प्रशिक्षण शुरू किया। उसके बाद, वह 2010 में इरोड नेशनल्स में ‘गोल्डन बेस्ट मुक्केबाज’ के रूप में घोषित की गईं।

निखत ज़रीन की व्यक्तिगत जीवन (Personal life of Nikhat Zareen)

निखत जरीन का जन्म 14 जून 1996 को तेलंगाना के निजामाबाद शहर में मोहम्मद जमील अहमद और परवीन सुल्ताना के पास हुआ था। उन्होंने निजामाबाद में स्थित निर्मला ह्रुदया गर्ल्स हाई स्कूल से अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूरी की। वह तेलंगाना के हैदराबाद में AV कॉलेज में बैचलर ऑफ़ आर्ट्स (बीए) की डिग्री कर रही हैं।

2021 से जून के महीने से निखत जरीन को बैंक ऑफ इंडिया, AC गार्ड्स, हैदराबाद के जोनल ऑफिस में स्टाफ ऑफिसर के रूप में नियुक्त किया गया है।

निखत ज़रीन का करियर (Career of Nikhat Zareen)

निखत जरीन को मुक्केबाजी का परिचय उनके पिता, मोहम्मद जमील अहमद ने दिया, और उन्होंने उनके निर्देशन में एक साल तक प्रशिक्षण लिया। निखत को 2009 में विशाखापट्नम के स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया में ड्रोनाचार्य पुरस्कारी, आईवी राव के निचे प्रशिक्षण देने के लिए शामिल किया गया था। एक साल बाद, उन्हें 2010 में इरोड नेशनल्स में ‘गोल्डन बेस्ट मुक्केबाज’ के रूप में घोषित किया गया था।

2011 महिला जूनियर और यूथ वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप (Women’s Junior and Youth World Boxing Championships)

तुर्की में आयोजित AIBA महिला जूनियर और यूथ वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में फ्लाईवेट डिवीजन में स्वर्ण पदक जीता। जरीन तुर्किश मुक्केबाज उल्कु देमिर के खिलाफ थी और तीन राउंडों के बाद उन्होंने 27:16 से यह मुकाबला जीत लिया।

2014 यूथ वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप (Youth World Boxing Championships)

उन्होंने 2014 में बल्गेरिया में आयोजित यूथ वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में रजत पदक जीता।

2014 नेशंस कप इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंट(Nations Cup International Boxing Tournament)

वे 2014 के 12 जनवरी को सर्बिया के नोवी साद में आयोजित तीसरे नेशंस कप इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीती। जरीन ने 51 किग्राम वजन श्रेणी में रूस की पल्ट्सेवा एकाटेरिना को हराया।

2015 16वीं महिला नेशनल बॉक्सिंग चैम्पियनशिप (Senior Woman National Boxing Championship)

वे 16वीं महिला नेशनल बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में असम में स्वर्ण पदक जीती।

2019 थाईलैंड ओपन इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंट

उन्होंने बैंकॉक में आयोजित थाईलैंड ओपन इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंट में रजत पदक जीता।

2019 स्ट्रैंजा मेमोरियल बॉक्सिंग टूर्नामेंट

वे सोफिया, बल्गेरिया में आयोजित स्ट्रैंजा मेमोरियल बॉक्सिंग टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीती।

2022 स्ट्रैंजा मेमोरियल बॉक्सिंग टूर्नामेंट

जरीन ने 73वें स्ट्रैंजा मेमोरियल बॉक्सिंग टूर्नामेंट में बुल्गेरिया के सोफिया में तीन बार यूरोपीय चैम्पियनशिप मेडलिस्ट टेटियाना कोब को 4-1 से हराकर स्वर्ण पदक जीता। महिला टीम के कोच भास्कर भट्ट द्वारा नेतृत की गई थी। उन्होंने सेमी-फाइनल में टोक्यो ओलंपिक के रजत पदक विजेता बुसे नाज चाकीरोग्लू को भी हराया।

2022 IBA महिला वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप (IBA Women’s World Boxing Championships)

2022 में 19 मई को, जरीन ने फ्लाईवेट फाइनल में इस्तांबुल, तुर्की में थाईलैंड की जितपोंग जुतमास को हराकर 52 किग्राम वजन श्रेणी में महिला वर्ल्ड चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीता। जरीन बन गईं पांचवीं भारतीय महिला मुक्केबाज जो विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने में सफल हुईं, उनके पहले इस में मैरी कॉम, लैश्रम सरिता देवी, जेनी आर. एल., और लेखा के. सी. के बाद। वह भारतीय महिला मुक्केबाजों में एक गोल्ड मेडल विजेता बनीं जो भारत के बाहर (भारत के बाहर) एक विश्व चैम्पियनशिप गोल्ड मेडल जीतने वाली दूसरी भारतीय मुक्केबाज थीं, जिनमें एम.सी. मैरी कॉम शामिल हैं, जिन्होंने अपने छः गोल्ड मेडल्स में से चार बार भारत के बाहर (भारत के बाहर) जीते थे।

2022 कॉमनवेल्थ गेम्स (Commonwealth Games)

निखत जरीन ने 2022 बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स में लाइट फ्लाईवेट श्रेणी (48–50 किग्राम) में नॉर्थर्न आयरलैंड की कार्ली मकनॉल को 5-0 से हराकर भारत के लिए तीसरा स्वर्ण पदक जीता।

2023 IBA महिला वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप

निखत ने 2023 में न्यू दिल्ली IBA महिला वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में 48-50 किग्राम वजन श्रेणी में वियतनाम की न्गुएन थी ताम को 5-0 यूनैनिमस डिसीजन से हराया और अपना दूसरा विश्व चैम्पियनशिप गोल्ड मेडल जीता।

निखत ज़रीन की उपलब्धियां (Achievements of Nikhat Zareen)

अंतरराष्ट्रीय खिताबें – International Titles

वर्षस्थानवजनप्रतियोगितास्थान
20111वें स्थान, स्वर्ण पदक विजेता(एस)48AIBA महिला जूनियर और यूथ वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिपतुर्की
20142वें स्थान, रजत पदक विजेता(एस)45–48यूथ वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिपबल्गेरिया
20141वें स्थान, स्वर्ण पदक विजेता(एस)51नेशंस कप इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंटनोवी साद, सर्बिया
20181वें स्थान, स्वर्ण पदक विजेता(एस)5156वें बेलग्रेड इंटरनेशनल चैम्पियनशिपबेलग्रेड, सर्बिया
20193वें स्थान, कांस्य पदक विजेता(एस)51एशियाई चैम्पियनशिपबैंकाक, थाईलैंड
20192वें स्थान, रजत पदक विजेता(एस)51थाईलैंड ओपन इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंटबैंकाक, थाईलैंड
20191वें स्थान, स्वर्ण पदक विजेता(एस)51स्ट्रैंजा मेमोरियल बॉक्सिंग टूर्नामेंटसोफिया, बल्गेरिया
20213वें स्थान, कांस्य पदक विजेता(एस)51इस्तांबुल बॉस्फोरस बॉक्सिंग टूर्नामेंटइस्तांबुल, तुर्की
20221वें स्थान, स्वर्ण पदक विजेता(एस)51स्ट्रैंजा मेमोरियल बॉक्सिंग टूर्नामेंटसोफिया, बल्गेरिया
20221वें स्थान, स्वर्ण पदक विजेता(एस)52IBA महिला वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिपइस्तांबुल, तुर्की
20221वें स्थान, स्वर्ण पदक विजेता(एस)50XXII कॉमनवेल्थ गेम्सबर्मिंघम, इंग्लैंड
20231वें स्थान, स्वर्ण पदक विजेता(एस)50IBA महिला वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिपनई दिल्ली, भारत

ब्रांड प्रचारण

2018 में, जरीन ने एक ब्रांड प्रचारण समझौता Adidas के साथ किया। जरीन को वेलस्पन ग्रुप द्वारा समर्थित किया जाता है और वह भारतीय स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया की टारगेट ओलंपिक पोडियम स्कीम के हिस्से में शामिल हैं।

पुरस्कार

निखत को उनके मूल निवास स्थल निजामाबाद, तेलंगाना के आधिकारिक दूत नियुक्त किया गया था।’ऑल इंडिया इंटर-यूनिवर्सिटी बॉक्सिंग चैम्पियनशिप’, जालंधर, पंजाब – फरवरी 2015 में ‘बेस्ट बॉक्सर’ का सम्मान 2019 में जेडएफडब्ल्यू पुरस्कार फॉर एक्सीलेंस इन स्पोर्ट्स 2022 में अर्जुन पुरस्कार।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.